हाथ मे घडी कोई भी हो 

(1) हाथ मे घडी कोई भी हो,

लेकीन वक्त अपना होना चाइए 

________________________

(2) दुनिया मे सिर्फ दो चीजे मशहुर है

तेरे भाइ का style और तेरी भाभी की smile

_________________________

(3)  गुलाम हू मे अपने घर के सस्कारो का,

वरना तुझे कब की तेरी औकात दिखादी होती

_________________________

(4) बिकने वाले और भी है,

जाओ जा कर खरीद लो 

हम किमत से नही किस्मत से मिला करते है

__________________________

(5) ना छुरी रखता हुँ ना पिस्तोल रखता हुँ 

दिलवालो का बेटा हुँ बस दिल मे जिगर रखता हुँ

और अकेला निकलता हुँ

__________________________

(6) लोग जल रहे है 

लगता है अपना सिक्का भी 

शहर मे चल रहै है 

__________________________

(7) ताजमहल हमारे लिए बकवास है

क्युकी रोज बदलती हमारी मुमताज है

__________________________

(8) दुनिया मे हम दो चीजो से famous है,

एक हमारा attitude दुसरा मेरा style

_________________________

(9) नाम सुन के ही लोगो को खौफ आ जाता है,

जब  direct मिलोगे तो अदर सूसू आ जायेगा

_________________________

(10)  मे वो खेल नही खेलता जिसमे जितना fix हो,

क्युकी जीतने का मजा तभी है,

जब हारने का risk हो

________________________

(11) मेरे पास वक्त नही और लडकियो

के पास किस्मत नही 

________________________

(12) बै मतलब की दुनिया का किस्सा ही खतम

अब जिस तरह की दुनिया उस तरह के हम

________________________

( 13) जीस दिन अपना ऐक्का चलेगा,

उस दिन बादशाह तो क्या उसका बाप भी 

अपना गुलाम बनेगा 

_______________________

(14) पटाने को तो हम पटा ले शहर 

की सारी लडकीया,

पर इस बादशाह को इश्क का

शौक है आवारगी का नही 

_______________________

(15) मुझे हराकर कोइ मेरी जान भी ले जाए

मुझे मजूर है

लेकीन घोखा देने वालो को 

मे दुबारा मौका नही देता

_____________________

(16) तुझे तो हमारी मोहब्बत ने 

मशहुर कर दिया बेवफा,

वरना तु सुरखियो मे रहे

तेरी इतनी औकात नही

_____________________

(17) मेरी दोस्ती का फायदा उठा लेना,

क्युकी मेरी दुश्मनी का नुकशान सह नही पाओगे

____________________

(18) जहा से तेरी बादशाही खतम होती है,

वहा से मेरी नवाबी सुरु होती है

___________________

(19) इस बात से लगा लेना,

मेरी शोहरत का अदाज 

वो मुझे सलाम करते है

जिन्हे तु सलाम करता है

_____________________

(20) पैदा तो मे भी शरीफ हुआ था,

पर सराफत से अपनी कभी बनी नही

______________________

सिर्फ दिल का हकदार बनाया था 

सिर्फ दिल का हकदार बनाया था तुम्हे

हद हो गयी तुमने तो जान भी लेली

वो हुस्न की मल्लिका मे attitude का 

वो हुस्न की मल्लिका,

मै attitude का शहजादा 

खट्टी मिठी हमारी love story 

थोडी कम थोडी ज्यादा 

करके नीयत तेरे होठो की हमने

करके नीयत तेरे होठो की हमने,

एक खिलता हुआ गुलाब चूम लिया

उसने कहा ignore करके दिखा मुझे

उसने कहा ignore करके दिखा मुझे,

मे रिश्ता ही तोड आया

हम थोडी सी style क्या मारे

हम थोडी सी style क्या मारे 

दुश्मनो की आँखे बडी हो गयी 

अभी तो entry मारी है 

आगे आगे देखो होता है क्या 

पहले डर लगता था उसे

( 1) पहले डर लगता था उसे खोने से,

अब घण्टा भी फर्क नही पडता 

उसके होने या ना होने से