क्या सिर्फ इतना ही प्यार था हम सब मे यारो

क्या सिर्फ इतना ही प्यार था हम सब मे यारो,

साथ बैठना छोड दिया तो याद करना भी छोड दिया

कही तुम भी नही बन जाना किरदार किसी किताब का

लोग बडे शौक से पढते है कहानीया बेवफा की

कही तुम भी मत बन जाना किरदार किसी किताब का

Teri meri Dosti

तुझे सताए बिना मुझे चैन नही, ना देखु तुझे तो पागल सा हो जाता हु,चल अब तो खुश हो पता है तुझे अपनी तारीफ सुननी है मुझसे, ले कर देता हु झूठ बोलने मे मेरा कया जाता है

True friend aise hi hote hai

ये कैसी दोसती है अपनी जो दुर रहने नही देती,  चैन से दो पल साथ रहने भी नही देती,