मोदी सरकार ने निकाला फॉर्मूला, 55 रुपए में पेट्रोल और 50 रुपए में मिलेगा डीजल देखो केसे मिलेगा

 

 

 

आम जनता को जल्द पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से छुटकारा मिलने वाला है। केंद्रीय पीडब्ल्यूडी मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि पेट्रोलियम मंत्रालय इथेनॉल फैक्टरी लगा रहा है। इससे डीजल 50 रुपए में और पेट्रोल मात्र 55 रुपए में मिल सकेगा।

छत्तीसगढ़ के दुर्ग में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे नितिन गडकरी ने तेल की समस्या के स्थायी समाधान की बात करते हुए कहा कि हमारा पेट्रोलियम मंत्रालय इथेनॉल बनाने के लिए देश में पांच प्लांट लगा रहा है। लकड़ी की चीजों और कचरे से इथेनॉल बनाया जाएगा। इससे डीजल मात्र 50 रुपए में और पेट्रोल 55 रुपए में मिल सकेगा।

पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों के चलते भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार इन दिनों खूब आलोचना झेल रही है। इसी के मद्देनजर कांग्रेस ने सोमवार को देशव्यापी ‘भारत बंद’ बुलाया। गडकरी ने कहा कि मैं पिछले 15 सालों से कह रहा हूं कि किसान और आदिवासी बायोफ्यूल बना सकते हैं, जिससे एयरक्राफ्ट उड़ाया जा सकता है। हमारी नई तकनीक के दम पर किसानों द्वारा बनाए गए इथेनॉल से गाड़ियां भी चलाई जा सकती हैं। (एजेंसियां)

अब आर्थिक आरक्षण देने की तैयारी में है मोदी सरकार, जानिए क्या होगा

 

 

अब आर्थिक आरक्षण देने की तैयारी में है मोदी सरकार, जानिए क्या होगा इसका असर

मिशन-2019 में टारगेट प्लस में आपका स्वागत है। आम चुनाव-2019 होने में भले ही अभी 10 महीने का समय बाकी है। लोकसभा चुनाव-2019 से पहले सियासी मुद्दे चरम पर हैं। अब भारतीय जनता पार्टी की नरेंद्र मोदी सरकार आर्थिक आधार पर आरक्षण देने की भी तैयारी कर रही है।

दोस्तों केंद्र सरकार की योजना है कि अनुसूचित जाति और जनजाति के साथ पिछड़े तबके को संविधान में मिले आरक्षण को कोई नुकसान पहुचाये बिना आर्थिक आधार पर सभी जातियों को आरक्षण दिया जाए। ऐसे में सूत्रों के मुताबिक 15 से 18 फीसदी तक आर्थिक आरक्षण दिया जा सकता है। पीएम नरेंद्र मोदी इसपर आखिरी फैसला लेंगे।

इसी शीतकालीन सत्र में आ सकता है यह बिल

संसद के शीतकालीन सत्र में यह बिल लाया जा सकता है। यह सत्र अब इस लोकसभा का आखिरी सत्र है। इस बिल से 15 से 18 फीसदी तक का आर्थिक आरक्षण मिल सकता है। इसका फायदा ये होगा कि पिछड़ी जातियों के अलावा ब्राह्मण, ठाकुर और बनिया समेत कई जातियों में ऐसा तबका भी है जो आर्थिक रूप से बहुत कमजोर है, जब उन्हें आर्थिक आरक्षण मिलेगा तो ये आगे बढ़ेंगे

दोस्तों आप बताइये कि मोदी सरकार द्वारा उठाया गया यह कदम सही है या नहीं। हमे फॉलो जरूर कीजिये

राहुल गाघी ने कहा हमारी सरकार आई तो विकास होगा : जवाब आया ये 👇👇👇

कांग्रेस को एक और बड़ा झटका,पार्टी छोड़ बीजेपी में शामिल हुआ ये बड़ा नेता

 

आगामी लोकसभा चुनाव 2019 में होने वाला है, जिसे लेकर सभी पार्टीयां अपनी-अपनी तैयारी और अपनी अपनी दावेदारी मजबूत करने में लगी हैं। कब किसको और किस तरीके से पार्टी में शामिल किया जाए या किसके आने से पार्टी का सम्मान और लोगो में पार्टी के प्रति विश्वास बढ़ेगा इन सब की तैयारियो में राजनेतिक पार्टीया लगी हुई है, उसी तरह भाजपा, कांग्रेस और अन्य पार्टीयां अपनी दावेदारी मजबूत करने में लगी है।

जहां एक तरफ भाजपा चुनावी तैयारी में डूबा हुई है, वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस अपने पार्टी की स्थिति मजबूत करने में लगी है ऐसा माना जा रहा है कि कांग्रेस इस बार सत्ता में पाने के लिए सब कुछ करने को तैयार है चाहे जिससे उनको गठबंधन करना पड़े वो करेंगे और भाजपा को सत्ता पाने से रोकने के लिए एड़ी चोटी का दम लगाने की तैयारी में है पर कांग्रेस में चल रहे आंतरिक कलह से पार्टी में अंसतोष की भावना उत्पन्न हो चुकी है

जिसका नतीजा ये है कि पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेता पार्टी छोड़ने पर मजबूर है या फिर यूं कहे पार्टी में अब उनको पहले जैसे सम्मान प्राप्त नहीं हो रहा है। इसलिए वो कांग्रेस को छोड़ अन्य पार्टी में शामिल होने की मंशा बनाकर अन्य पार्टी ज्वाइन कर रहे है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है कांग्रेस के कुंवरजी बावलिया जी का, जो गुजरात के बड़े चेहरो में गिने जाते हैं। वो चार बार कांग्रेस से विधायक रह चुके हैं अब देखना काफी दिलचस्प कुंवरजी बावलिया का कांग्रेस छोड़ने से कितना नुकसान होगा और बीजेपी को कितना फायदा होगा।

राजस्थान चुनाव को लेकर किया गया बड़ा सर्वे, इस नेता का मुख्यमंत्री बनना लगभग तय

वर्ष 2018 में भारत के कई राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। हालांकि अभी तक इन चुनावों को लेकर कोई भी निश्चित तिथि का ऐलान नहीं किया गया है। परंतु यह निश्चित है कि इन चुनावों को आने वाले मात्र 4 महीनों के अंदर पूरा करवाया जाएगा। ऐसे में ABP News ने हाल ही में राजस्थान की जनता का मूड जानने की कोशिश की।

हम सभी जानते हैं कि एबीपी न्यूज़ के सर्वे काफी हद तक सटीक होते हैं। बता दें कि ABP News ने इस सर्वे में दावा किया है कि राजस्थान की जनता इस बार सत्ता पलटने के मूड में है। क्योंकि एबीपी न्यूज़ के सर्वे के अनुसार भारतीय जनता पार्टी को मात्र 38% वोट मिलने की संभावना है।

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस की बात करें तो राजस्थान के लोगों के तकरीबन 44% वोट कांग्रेस के खाते में जाने की उम्मीद जताई गई है। जिससे यह स्पष्ट है कि राजस्थान विधानसभा चुनाव में भाजपा इस बार 6% वोटों से मात खाने वाली है। हालांकि यह अंतर काफी कम है, इस कारण से यह सर्वे उल्टा भी साबित हो सकता है।

वहीं इसी सर्वे में एबीपी न्यूज़ में लोगों से उनके पसंदीदा मुख्यमंत्री के बारे में राय मांगी। तो राजस्थान के लोगों ने 48% अधिकतम वोटों के साथ सचिन पायलट को सबसे पहले स्थान पर रखा। वही वसुंधरा राजे को मात्र 28% वोट प्राप्त हुए।

बंगाल मे बीजेपी की लहर

बंगाल में बीजेपी की लहर, अमित शाह की रैली में ममता की रैलियों से ज्यादा भीड़, बौखलाई ममता

 

 

मोदी को टक्कर देने के लिए कांग्रेस के साथ आ रही है यह बड़ी पार्टी, भाजपा हुई चिंतित

लोकसभा चुनाव 2019 के करीब आते ही कांग्रेस महागठबंधन और भी अधिक मजबूत होता जा रहा है। आपको बता दें कि प्रत्येक बढ़ते दिन के साथ महागठबंधन को लेकर पार्टियों में मतभेद भी खत्म होता जा रहा है। गौरतलब है कि हाल ही में आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस महागठबंधन में शामिल होने के संकेत दिए हैं। गौरतलब है कि यदि आम आदमी पार्टी कांग्रेस में शामिल हो जाती है तो महागठबंधन को काफी ज्यादा मजबूती प्रदान होगी।

 

 

Third party image reference

आपको बता दें कि जागरण news.com में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों से गुपचुप तरीके से बातचीत कर रहे हैं। साथ ही बताते चलें कि मध्य प्रदेश में आम आदमी पार्टी तथा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने भाषण के दौरान कांग्रेस पर कोई भी निशाना नहीं साधा। जिसके बाद मीडिया में यह खबरें तेजी से फैल रही हैं कि अपने भाषण में सिर्फ भारतीय जनता पार्टी को निशाना बनाने वाले अरविंद केजरीवाल जल्द से जल्द कांग्रेस महागठबंधन में शामिल हो सकते हैं।

 

 

Third party image reference

गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में पिछले विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को हराते हुए एकतरफा जीत हासिल की थी। ऐसे में यदि आम आदमी पार्टी कांग्रेस का हाथ थामती है तो यह निश्चित तौर पर भारतीय जनता पार्टी के लिए एक चिंताजनक बात होगी। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले अरविंद केजरीवाल ने भी कांग्रेस से यह अपील की थी कि वह आम आदमी पार्टी का दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने में मदद करें

बिहार और प. बंगाल की लोकसभा सीटों पर अब तक का सबसे बड़ा सर्वे, ये पार्टी जीत रही है

ये रहे पश्चिम बंगाल की लोकसभा सीटों पर हुए सर्वे के नतीजे

पश्चिम बंगाल में लोकसभा की कुल 42 सीटें हैं। एबीपी न्यूज़ के सर्वे के मुताबिक वहाँ पर बीजेपी को तगड़ा फायदा मिल सकता है। ऐसा माना जा रहा है कि बीजेपी को 24 फीसदी,कांग्रेस को 11 फीसदी,और अन्य को 65 फीसदी वोट शेयर मिल सकते हैं। भारतीय जनता पार्टी वर्तमान में पश्चिम बंगाल में दूसरे नंबर की पार्टी है।

 

 

गूगल

दूसरी तरफ अगर हम पूरे लोकसभा सीटों पर हुए सर्वे की बात करें तो बीजेपी को 293 से 309 के बीच, कांग्रेस को 122 से 132 सीटें हासिल हो सकती हैं।

 

 

गूगल

ये रहे बिहार लोकसभा सीटों पर सर्वे के नतीजे

एबीपी न्यूज़ के सर्वे के मुताबिक यहाँ भी बीजेपी को फायदा मिलेगा। यहाँ पर बीजेपी को सबसे ज्यादा 60 फीसदी वोट शेयर मिलने की उम्मीद है। दूसरी तरफ कांग्रेस को 34 फीसदी एवं अन्य को 6 फीसदी वोट मिल सकते हैं।

आईबीसी 24 ने जारी किया मध्यप्रदेश का सर्वे, इस पार्टी को मिल रही है भारी बढ़त

दोस्तों मध्यप्रदेश में इस साल विधानसभा के चुनाव होने हैं।3 बार से बीजेपी के सीएम शिवराज सिंह के लिए यह अग्नि परीक्षा से कम नहीं।यदि शिवराज लगातार चौथी बार जीते तो वो पार्टी के अंदर पीएम मोदी के कद के बराबर के नेता हो जाएंगे।ऐसे में आईबीसी 24 नामक न्यूज़ एजेंसी ने मध्यप्रदेश का एक ताज़ा सर्वे जारी किया है।इस सर्वे में प्रदेश की अलग अलग विधानसभाओं से तकरीबन 15 हज़ार आम लोगों की राय ली गयी है।

 

 

Third party image reference

इस सर्वे के मुताबिक बीजेपी का यह सबसे सुरक्षित किला इस बार दरक सकता है।इस बार कांग्रेस को बीजेपी पर भारी बढ़त मिलती दिखाई दे रही है।सर्वे के मुताबिक कांग्रेस को 119 वहीं बीजेपी को 101 और अन्य को 10 सीटें मिल सकती हैं।यानी कांग्रेस अकेले दम पर सरकार बना सकती है।

 

 

Third party image reference

वहीं सीएम के चेहरे की पसन्द में भी शिवराज पीछे हो रहे हैं।सर्वे के मुताबिक 37 प्रतिशत मतों के साथ कांग्रेस के युवा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया लोगों की पहली पसंद हैं।वहीं शिवराज को 31 प्रतिशत लोग पसन्द करते हैं।कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ 12 प्रतिशत लोगों की पसन्द के साथ इस सर्वे में तीसरे नम्बर पर कायम हैं।