जिनमे अकेले चलने के होँसले होते है

जिनमे अकेले चलने के होँसले होते है

ऐक दिन उनके पीछे ही काफिले होते है

रहने दे मुझे इन अघेरे मे गालिब,

कमबख्त रोशनी मे

अपनो के चहरे नजर आ जाते है

दिल बडा रखिए

दिल बडा रखिए और

लोगो को माफ कर दिजीए

पर समझ इतनी रखिए की

दुबारा उन पर भरोसा मत करना

रास्ते कहाँ खत्म होते है

रास्ते कहाँ खत्म होते है

जिन्दगी के सफर मे

मंजिल तो वहाँ है

जहा ख्वाहिशे थम जाएँ

 

रिशते खराब होने की एक वजह ये भी है

रिश्ते खराब होने की एक वजह ये भी है

कि लोग झुकना पसंद नही करते