कर लिया तुम पर यकीन इस दिल ने , अब तुम्ही मेरे हमसफर तुम्ही मंज़िल हो, ले चलो जहाँ मर्ज़ी तुम्हारी, ना कोई शक ना कोई सवाल हैतुमसे, बसाया है बना के रब तुम्हे जब से  इन नैनो में

Author: Rooh

hyy मे एक शायर हुँ और मे शायरी करता हुँ

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *