ए ख़ुदा बक्श दे चंद साँसे मुझे ,यार का दीदार कर लूं फिर ले चल चाहे जहा मुझे

Author: Rooh

hyy मे एक शायर हुँ और मे शायरी करता हुँ

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *