तुम क्या जानो कितना तड़पते है हम, बस देख के तुमको साँस लेते है हम, ना जाया करो पल भर भी इन नज़रो से दूर , सिर्फ तुम्हारे लिए ही तो हर सुबह आँखे खोलते है हम

Author: Rooh

hyy मे एक शायर हुँ और मे शायरी करता हुँ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *