तुम   हाथ   बढाओ   हम   थाम   लेंगे ,  तुम  कदम  बढाओ  हम  साथ  देंगे,  थक  भी  अगर दुनियां  से  लड़ते  लड़ते  तो  ना  घबराना, तुमसे पहले  हर  मुसीबत  को  अपने  ऊपर  ले  लेंगे

Author: Rooh

hyy मे एक शायर हुँ और मे शायरी करता हुँ

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *