दिल से हम भुलाओगे केसे

दिल से हमे भुलाओगे कैसे

हम वो खुशबु है जो  साँसो मे बसते है

खुद की साँसो को रोक पाओगे कैसे

Author: Rooh

hyy मे एक शायर हुँ और मे शायरी करता हुँ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *