तेरे साथ मे सवर गई जिंन्दगी हमारी

तेरे साथ मे सवर गई जिंन्दगी हमारी

हमारे लिए सब से बढ कर है खुशिया तुम्हारी

और कोई ना तमन्ना है ना चाहत है

बस तुम साथ रहो ये ख्वाहिश है हमारी

Author: Rooh

hyy मे एक शायर हुँ और मे शायरी करता हुँ

Leave a Reply